2 line Sad Photo Shayri

0

मुहाजिर हैं मगर हम एक दुनिया छोड़ आए हैं,
तुम्हारे पास जितना है हम उतना छोड़ आए हैं ।
– Munawwar Rana

 

चुन-चुन कर शब्द……. नए किस्से वही हर बार लिखुँ…..।।।।

आप ही बताए थोड़े शब्दों मे मैं कैसे सबका दर्द लिखुँ::…।।

 

कागज़ कलम मैं तकिये के पास रखता हूँ,

दिन में वक्त नहीं मिलता,मैं तुम्हें नींद में लिखता हूँ..

अज़हर खान इन्दौरी

 

 

2 line Sad Photo Shayri

 

 

कभी कभी दिल-ए-हालात लिखते हैं

हर वक्त वाह वाह की ख्वाहिश नहीं होती
अज़हर खान इन्दौरी

 




लोगों ने मुझमें… इतनी ‘कमियां’ निकाल दी,

कि अब ‘खूबियों’ के सिवाय मेरे पास कुछ बचा ही नहीं
अज़हर खान इन्दौरी

2 line Sad Photo Shayri Hindi- jigyasaa.com

 

कुछ नहीं बदला दिवाने थे, दिवाने ही रहे,
हम नये शहरों में रह कर भी पुराने ही रहे !
दिल की बस्ती में हज़ारों इंक़लाब आये मगर,
दर्द के मौसम सुहाने थे, सुहाने ही रहे !!

 

 

2 line Sad Photo Shayri

 

 

मैने बहुत से ईन्सान देखे हैं, …….
जिनके बदन पर लिबास नही होता,…..

और बहुत से लिबास देखे हैं, जिनके अंदर ईन्सान नही होता।……

कोई हालात नहीं समझता, कोई जज़्बात नहीं समझता,….

ये तो बस अपनी अपनी समझ की बात है…,…

कोई कोरा कागज़ भी पढ़ लेता है…….
तो कोई पूरी किताब नहीं समझता!..

 

 

[Fancy_Facebook_Comments style=”background-color:#000;”],

 

 

हम फूल तो नहीं
पर महकना जानते है,
बिना रोये
गम भुलाना जानते है..
लोग खुश होते है हमसे…
क्योकि…….
हम बिना मिले ही
रिश्ते निभाना जानते है




ख़्वाब जो देखे न थे, उन की सज़ा तो मिल गई
बारहा देखा जिन्हें, उन का सिला मिलता नहीं
~अमीक़ हनफ़ी

 

2 line Sad Photo Shayri

 

मेरी ही बात सुनती है मुझी से बात करती है
कहाँ तन्हाई घर की अब किसी से बात करती है
~भारत भूषण पन्त

 

 

अश्क मेरे मुझसे मुस्कुराने की इज़ाजत मांगे
इक बार चले आओ उलफत इबादत मांगे।
अंजलि अरोड़ा “खुश्बू”

 

 

 

हैरान रह गया आज तेरे पुराने खत पढ़के ,
ऐ दोस्त कभी हम बड़े अजीज हुआ करते थे।