ब्लू टिक स्कैम सोशल मीडिया- ट्विटर इंस्टाग्राम Facebook की तरफ से नहीं आया है कोई भी आधिकारिक बयान.

0

सोशल मीडिया में ब्लू टिक प्रोफाइल के बारे में तो आप सभी जानते होंगे यह ब्लू टिक कुछ पॉपुलर लोगों की प्रोफ़ाइल में होता है इस ब्लू टिक मतलब वेरीफाई करना होता है, जिसकी  सोशल मीडिया प्रोफाइल है उस व्यक्ति को संबंधित सोशल मीडिया कंपनी के द्वारा दिया है जिससे यह साबित होता है कि यह प्रोफाइल फेक या फर्जी नहीं है क्योंकि आजकल जो पॉपुलर लोग होते हैं उनके नाम से कई लोग फर्जी ID बनाते हैं इसी से बचने के लिए सोशल मीडिया ने यह ब्लू टिक मार्क शुरू किया है यह अपने आप में एक सम्मान का सूचक भी होता है.

सोशल नेटवर्किंग साइट यूजर के बीच इन दिनों अकाउंट को वेरीफाई कराने की यानी ब्लू टिक का  क्रेज तेजी से बढ़ता जा रहा है, सोशल मीडिया यह ब्लू टिक कुछ विशेष प्रकार के अकाउंट को ही देती है, इस वेरीफाई अकाउंट से उन लोगो को सेलिब्रिटी या ब्रांड के तौर पर देखा जाता है, पर आजकल अकाउंट वेरीफाई कराने के नाम पर कुछ कंपनियां यूजर से काफी मोटी रकम वसूल कर रही है.




 

अकाउंट वेरीफाई

सामान्य तौर पर तो अकाउंट वेरीफाई सोशल मीडिया कंपनियां ही करती हैं और इसमें किसी तरह  का कोई पैसा नहीं लिया जाता है, अकाउंट को वेरीफाई कराने के लिए यूजर को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रिक्वेस्ट करना होता है जिसके बाद कंपनियां अपने प्रोटोकॉल को फॉलो करती हैं और यूजर को पॉलिसी रूल के अंतर्गत ब्लू टिक दिया जाता है, जिसमें कुछ नियम और शर्तें लागू होती है उन्हें यूजर को फोलो करना होता है अगर यूज़र उन सभी शर्तों को मान लेता है तो उन्हें यह ब्लू टिक का  मार्क दे दिया जाता है, जो अपने आप में एक प्रतिष्ठा का सूचक होता है.

अकाउंट वेरीफाई स्कैम

अंग्रेजी वेबसाइट Mashable  की रिपोर्ट के अनुसार Twitter इंस्टाग्राम और Facebook  पर ब्लू टिक देने के लिए यूजर से काफी पैसे लिए जा रहे हैं यह काम कई वेबसाइट कर रही है यह एक प्रकार का अकाउंट वेरीफाई स्कैम है और यूजर से इसके बदले काफी भारी रकम वसूल की जा रही है

Twitter वेरिफिकेशन

इन कंपनियों के अनुसार ट्विटर अकाउंट वेरीफाई कराने की शुरुआती कीमत $16,000 यानी करीब 105000 रुपए रखी गई है ऐसी हर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की वेबसाइट अलग-अलग कीमत के अनुसार अकाउंट वेरीफाई कराने का  स्कैम चला रही है




अकाउंट को वेरीफाई कराने के लिए मिल रहे ईमेल

सामने आई जानकारी के अनुसार यह गैरकानूनी वेबसाइट है जो पैसे के बदले ऐसा कर रही है, इन वेबसाइट के द्वरा ब्लू टिक लेने के लिए डायरेक्ट मेसेज या ईमेल के थ्रू भेजे जा रहे हैं जिन में कई कस्टमर इन ईमेल और मेसेज के जरिए इन लोगों से जुड़ते जा रहे हैं, सबसे अजीब बात यह है कि ब्लू टिक पाने के लिए यह लोग इतनी मोटी रकम देने के लिए भी तैयार हो जाते हैं.

ट्विटर इंस्टाग्राम Facebook की तरफ से नहीं आया है कोई भी ऑफिशियल बयान-

हम आपको बता दें कि फेसबुक ट्विटर और इंस्टाग्राम इन तीनों ही वेबसाइट यूजर का अकाउंट वेरीफाई करती है ट्विटर  Facebook और इंस्टाग्राम अकाउंट को वेरीफाई करना बाकी सोशल मीडिया अकाउंट के मुकाबले मुश्किल होता है, इसलिए यह कंपनियां इसके लिए ज्यादा पैसे ले रही है ऐसा उस रिपोर्ट के अनुसार समझा जा सकता है, इंस्टाग्राम पर वेरिफिकेशन कराने के लिए यूजर को एक फॉर्म फील करना होता है जो कि कभी  पब्लिकली नहीं मिलता है, यह वेरिफिकेशन की प्रक्रिया एक प्राइवेसी के तहत होती है जिसमें आम कस्टमर को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं होती है इस तरह की रिपोर्ट के बारे में अभी तक इन तीनों कंपनियों ने कोई भी आधिकारिक  बयान जारी नहीं किया है