किसी शायर ने मौत को क्या खुब कहा है...

किसी शायर ने मौत को क्या खुब कहा है…

  किसी शायर ने मौत को क्या खुब कहा है...   जिन्दगी मे दो मिनट कोई मेरे पास ना बैठा, आज सब मेरे पास बैठे जा रहे थे ? कोई तौफा न मिला आज तक, और आज फूल ही फूल...
Translate »